Now Reading:
एम एस धोनी की ये अनसुनी बातें जो शायद हर किसी को जाननी चाहिए
Full Article 5 minutes read

एम एस धोनी की ये अनसुनी बातें जो शायद हर किसी को जाननी चाहिए

भारतीय क्रिकेट की कप्तानी छोड़े महेंद्र सिंह धोनी को भले ही अरसा हो चुका है, लेकिन उनके नाम के साथ कैप्टन कूल का निकनेम लगाया जाना शायद ही आज भी क्रिकेट प्रेमी भूलते होंगे। धोनी के हेलीकॉप्टर शॉट से लेकर उनके कप्तानी के अंदाज तक या फिर उनकी बिजली जैसी तेजी वाली विकेटकीपिंग के बारे में। शायद ही कोई ऐसी बात होगी, जो धोनी के खेल से जुड़ी हो और किसी आम क्रिकेट प्रेमी को भी नहीं पता हो, लेकिन यदि आपसे हम ये कहें कि धोनी की जिंदगी से जुड़ी कुछ खास बातें ऐसी हैं, जो शायद आपको उनके ऊपर बनीं फिल्म देखकर भी पता नहीं चली होगी तो शायद आप कहेंगे कि ऐसा हो ही नहीं सकता। लेकिन चलिए हम आपको 10 ऐसी ही बातें बता रहे हैं, जिन्हें पढ़कर फैसला आप खुद ही कर लीजिए।

भारत के पहले खिलाड़ी, जिन्होंने सेना के विमान से पैराशूट जंप की

महेंद्र सिंह धोनी भारत के पहले ऐसे खिलाड़ी हैं, जिन्होंने सेना के विमान से पैराशूट पहनकर पैरा जंप लगाई है। ये कारनामा भारतीय सेना के पैरा रेजीमेंट के लिए आगरा में वर्ष 2015 में किया था धोनी ने। उन्होंने पैराट्रूपर ट्रेनिंग स्कूल से पहले ट्रेनिंग ली और उसके बाद 15 हजार फीट से 5 बार छलांग लगाई थी।

झारखंड के सबसे अमीर आदमी!

यदि आयकर चुकाने के आधार पर किसी को सबसे ज्यादा अमीर आदमी गिना जाए तो धोनी आज की तारीख में झारखंड राज्य के सबसे ज्यादा आयकर चुकाने वाले अमीर हैं। वे हर साल 12 करोड़ रुपए से ज्यादा आयकर अपनी कमाई पर चुकाते हैं।

सचिन से ज्यादा है धोनी की कमाई

सचिन तेंदुलकर के बारे में हम सभी जानते हैं कि वे भारतीय क्रिकेट ही नहीं भारतीय खेलों के सबसे बड़े ब्रांड हैं। लेकिन यदि ब्रांड वेल्यू के हिसाब से बात की जाए तो धोनी की नेटवर्थ 30 मिलियन डॉलर है, जो फोब्र्स मैगजीन ने तय की है और वे सचिन से कहीं ज्यादा महंगे खिलाड़ी माने गए हैं। हालांकि अब धोनी से भी ज्यादा महंगा खिलाड़ी भारतीय क्रिकेट कप्तान विराट कोहली को घोषित किया जा चुका है।

धोनी के दिल में झारखंड पर खून में बसा है उत्तराखंड

ये बात शायद आपको पता ही होगी कि महेंद्र सिंह धोनी के पिता पान सिंह धोनी झारखंड के रांची में कंपनी में काम करने आए थे। धोनी का जन्म भी वहीं हुआ, इस कारण उनके दिल में झारखंड सबसे ऊपर बसता है। लेकिन धोनी इतना ही प्यार उत्तराखंड को भी करते हैं। इसका कारण है धोनी का पैतृक गांव उत्तराखंड के ही अल्मोड़ा जिले में होना, जहां आज भी धोनी के करीबी रिश्तेदार रहते हैं।

200 करोड़ रुपए कमाते हैं धोनी हर साल

धोनी ने भले ही टीम इंडिया की कप्तानी छोड़ दी हो, लेकिन इससे उनकी कमाई पर कोई खास फर्क नहीं पड़ा है। धोनी की कमाई का आकलन हर साल लगभग 200 करोड़ रुपए का है। ये कमाई उन्हें क्रिकेट खेलने के अलावा अपनी कई कंपनियों में हिस्सेदारी और लगभग 21 ब्रांड के लिए किए जाने वाले विज्ञापनों से मिलती है।

सबसे बड़ा निजी बाइक शोरूम

भारत में यदि किसी एक आदमी के पास सबसे ज्यादा मोटरबाइक्स होने की गिनती की जाए तो धोनी उसमें नंबर-1 आएंगे। धोनी के पास रांची स्थित उनके घर में अपना एक निजी बाइक शोरूम है, जिसमें हार्ले डेविडसन से लेकर उन्हें क्रिकेट के शुरुआती दौर में तोहफे में मिली सस्ती भारतीय मोटरबाइक्स भी हैं। धोनी के शोरूम में लगभग 23 बाइक हैं, जिनकी कीमत करोड़ों रुपए तक है। इसके अलावा उनके शोरूम में दर्जन भर से ज्यादा महंगी कारें भी हैं।

मोटर रेसिंग का भी है धोनी को पैशन

धोनी के बाइकिंग के पैशन के बारे में सभी जानते हैं, लेकिन शायद ही आप जानते होंगे कि उन्हें मोटरबाइक्स की रेसिंग का इतना शौक है कि उन्होंने खुद एक बाइक रेसिंग टीम भी खरीद रखी है। ये टीम बाकायदा इंटरनेशनल लेवल पर होने वाले बाइकिंग इवेंट्स में भाग लेती है। इस टीम का नाम है माही रेसिंग।

धोनी हैं सेना के कर्नल

आपने कई बार महेंद्र सिंह धोनी को सैनिक वर्दी में देखा होगा। शायद आपने सोचा होगा कि ये वर्दी धोनी को पसंद है और इसी कारण शौकिया तौर पर उन्होंने सैन्य वर्दी में फोटो बनवाई है। लेकिन ऐसा नहीं है। धोनी भारतीय सेना में मानद लेफ्टिनेंट कर्नल पद पर हैं, जो उन्हें भारतीय सेना की तरफ से युवाओं को सैन्य नौकरी की तरफ आकर्षित करने के लिए दी गई है।

धोनी के हैं अपने कई खास ब्रांड

धोनी अपना एक खास लाइफ स्टाइल ब्रांड भी चलाते हैं, जिसका नाम 7 है। इस ब्रांड की देखरेख धोनी की डायरेक्टरशिप वाली कंपनी रिति स्पोट्र्स करती है।

धोनी को पसंद है क्रिकेट से ज्यादा फुटबॉल

ये बात तो सभी जानते हैं कि धोनी स्कूल टाइम में फुटबॉल गोलकीपर थे और वहीं से उनका खेल देखकर स्कूल क

1 comment

  • raju-jangid

    The art of ghazal singing has was able to entice millions round the
    globe. It took about three months to understand the language
    as well as the raucous, discordant (to my ears) “melody. Instead of enjoying karaoke parties, you can always take the music that will create your own personal song, by plugging it into your TV sets.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Input your search keywords and press Enter.