Now Reading:
क्या आपको पता है, नागपुर का मैदान है मुरली विजय के लिए खास, जानिए कैसे ?
Full Article 3 minutes read

क्या आपको पता है, नागपुर का मैदान है मुरली विजय के लिए खास, जानिए कैसे ?

नागपुर टेस्ट में भारतीय टीम का शानदार प्रदर्शन जारी है। पहले गेंदबाजों ने कमाल दिखाया और अब बल्लेबाज भी अपने रंग में दिखाई दे रहे हैं। टेस्ट मैच के दूसरे दिन मुरली विजय ने शानदार शतक लगाया। उन्होंने 187 गेंद पर 9 चौके और 1 छक्के की बदौलत अपना शतक पूरा किया। इस शतक की बदौलत भारतीय टीम दूसरे चायकाल के समय एक विकेट के नुकसान पर पौने दो सौ रनों का आकड़ा पार कर चुकी है। मुरली विजय के टेस्ट करियर का ये दसवां शतक है। मुरली विजय का नागपुर से एक और रिश्ता है। आपको बता दें कि उनके टेस्ट करियर की शुरूआत नागपुर से ही हुई थी। 2008 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले गए उस टेस्ट मैच में टीम इंडिया ने जीत हासिल की थी। मुरली विजय ने पहली पारी में 33 और दूसरी पारी में 41 रन बनाए थे। इससे पहले भारतीय गेंदबाजों ने श्रीलंका को पहली पारी में सस्ते में समेट दिया था। श्रीलंका की पूरी टीम पहली पारी में 205 रन पर ही सिमट गई थी।

खास रहा श्रीलंका के खिलाफ दसवां शतक

मुरली विजय की गिनती आक्रामक बल्लेबाजों में होती है लेकिन टेस्ट मैच की जरूरत को समझते हुए उन्होंने बहुत सूझबूझ भरी बल्लेबाजी की। टेस्ट मैच के दूसरे दिन चेतेश्वर पुजारा के साथ उन पर जिम्मेदारी थी कि वो श्रीलंका के गेंदबाजों को शुरूआती सफलता ना मिलने दें। इस लक्ष्य में वो पूरी तरह सफल रहे। उन्होंने धीमी लेकिन सधी हुई बल्लेबाजी की, जिसकी जरूरत भी थी। मुरली विजय ने अपना अर्धशतक पूरा करने में 112 गेंद खेली। इसके बाद लंच हुआ। लंच से लौटने के बाद उन्होंने सावधानी के साथ रनों की रफ्तार बढ़ाई। अगले 50 रन उन्होंने 75 गेंदों में बनाए और अपना शतक पूरा किया। अगले पचास रनों में मुरली विजय ने 3 चौके और एक छक्का लगाया।

चेतेश्वर पुजारा ने दिया बेहतरीन साथ

टीम इंडिया के भरोसेमंद बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा ने भी मुरली विजय का बखूबी साथ दिया। उन्होंने भी श्रीलंका के गेंदबाजों को बिल्कुल हावी नहीं होने दिया। दूसरे विकेट की साझेदारी के मामले में ये जोड़ी राहुल द्रविड़ और वीरेंद्र सहवाग के बाद आ गई है। पुजारा भी अपना अर्धशतक लगा चुके हैं और टीम इंडिया के स्कोर को ये दोनों बल्लेबाज आराम से आगे बढ़ा रहे हैं, जो श्रीलंका के कप्तान के लिए सरदर्द बनेगा।

1 comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Input your search keywords and press Enter.